आतंकवाद पर निबंध Essay on Terrorism in Hindi (1000W)

आज हम इस आर्टिकल में आतंकवाद पर निबंध Essay on Terrorism in Hindi (1000W) लिखा हैं जिसमें  हमने प्रस्तावना, आतंकवाद क्या है, आतंकवाद का उद्देश्य, विश्व में प्रमुख आतंकवादी हमले, भारत मे आतंकवाद विकसित होने के कारण, आतंकवाद का समाधान, आतंकवाद पर 10 लाइन के बारे में लिखा हैै।

प्रस्तावना (आतंकवाद पर निबंध Essay on Terrorism in Hindi)

आज यदि हम भारत के विभिन्न समस्याओं पर विचार करें, तो हमें लगता है कि हमारा देश अनेक प्रकार के समस्याओं के चक्रव्यू में गिरा हुआ है। एक और भुखमरी, दूसरी और बेरोजगारी, कहीं अकाल तो, कहीं बाढ़ का प्रकोप है।

आतंकवाद ही एक एसी समस्या है जो देश रूपी वटवृक्ष को दिमाग के समान  चट-चट कर खोखला कर रही है। कुछ अलगाववादी शक्तियां तथा पथभ्रष्ट नवयुवक हिंसात्मक रूप से देश को विभिन्न क्षेत्रों में दंगा फसाद करवा कर अपने स्वार्थ सिद्धि में लगे हुए हैं।

आतंकवाद का क्या है What about Terrorism in Hindi

आतंकवाद एक ऐसी समस्या है जिसका भारत में हम कई दशकों से सामना कर रहे हैं। आतंकवाद एक हिंसक व्यवहार है जो सम्मान या उसके बड़े भाग में राजनीतिक उद्देश्य से पैदा करने के इरादे से किया जा रहा है।

“अहिंसा परमो  धर्मा” तथा “वसुधैव कुटुंबकम” जैसे महा मानवता के सिद्धांत वाला हमारा देश भारत के पिछले अनेक वर्षों से संप्रदायिक हिंसा तथा आतंकवाद की विकराल समस्या बनी हुई है।

आतंकवाद का उद्देश्य Purpose of Terrorism in Hindi

आतंकवाद का कोई नियम कानून नहीं होता वह केवल अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार के ऊपर दबाव बनाने के साथ ही आतंक को हर जगह फैलाने के लिए निर्दोष लोगों के समूह या समाज पर हमला करते हैं।

यह सच है कि बेकारी तथा बेरोजगारी के कारण परेशान युवाओं को धन का लालच देकर तथा धर्म के नाम पर उकसाने तथा आतंकवाद बनाने का काम धार्मिक कट्टरपंथी संस्थाएं करती रहती है।

आतंकवादियों द्वारा सीरियल ब्लास्ट कथा साइकल बम ब्लास्ट जैसी घटनाओं ने देश को झकझोर कर रख दिया है, इसीलिए आज आतंकवादियों के खिलाफ कठोरता से पेश आने की आवश्यकता है।

विश्व में प्रमुख आतंकवादी हमले Major Terrorism attacks in the world in Hindi

1947 में भारत के आजादी के बाद से ही, भारत को विभिन्न देशों में विद्रोह और आतंकवादी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

  • 12 मार्च 1993 को भारत के आर्थिक राजधानी को बम विस्फोट की एक श्रृंखला से हिला दिया गया था।
  • 1998 में कोयंबटूर बमबारी।
  • 13 दिसंबर 2001 को देश की सबसे सुरक्षित इमारत संसद पर हमला।
  • 24 सितंबर 2002 को गांधीनगर, गुजरात में अक्षरधाम मंदिर परिसर आत्मघाती हमला।
  • 2005 में दिल्ली सीरियल बम विस्फोट।
  • 2006 में बॉम्बे ट्रेन विस्फोट।
  • 2007 में समझौता एक्सप्रेस बमबारी।
  • 26/11 2008 मुंबई में हुई सबसे बड़ी आतंकी हमला का भारत ने सामना किया।

भारत में आतंकवाद विकसित होने के कारण Due to the development of Terrorism in India in Hindi

जिनमें से प्रमुख गरीबी, बेरोजगारी, भूखमरी, तथा धार्मिक उन्माद है। इनमें से धार्मिक कट्टरता आतंकवादी गतिविधियों को अधिक प्रोत्साहित कर रही है। लोग धर्म के नाम पर एक दूसरे का गला काटने को तैयार हो जाते हैं।

धार्मिक उन्माद अपने विरोधी धर्मावलंबी को सहन नहीं कर पाता। परिणाम स्वरूप हिंदू मुस्लिम हिंदू सीख आदि धर्म के नाम पर अनेक दंगे भड़क उठते हैं।

आतंकवाद का समाधान Solution to Terrorism in Hindi

यह मुश्किल हो सकता है एक निश्चित व्यक्ति जिसने अपना मन बना लिया हो उसे रोकना जो आतंक का कार्य करना चाहता है लेकिन हमेशा राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को सुरक्षित कर सख्त कानून की जरूरत है सरकार को आतंकवादी विधि के प्रवाह को रोकने और कड़ाई से निगरानी करने के लिए कानून बनाना चाहिए और प्रभावी ढंग से और कार्य करना चाहिए।

आतंकवादी गतिविधियों को कुचलने के लिए सरकार तथा जनता को मिलकर कार्य करना चाहिए। ऐसा करने से सबसे पहले कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाना होगा।

जहां जहां पर अंतरराष्ट्रीय सीमा हमारे देश की सीमा को छू रही है उन समस्त क्षेत्रों की नाकाबंदी की जानी चाहिए जिसकी वजह से आतंकवादी सीमा पार से हथियार, गोली, बारूद और प्रशिक्षण प्राप्त करने में असफल हो जाए।

आतंकवाद मानव सभ्यता के लिए कलंक है उसे पनपने नहीं देना चाहिए। विश्व के सभी राष्ट्रों को एक होकर इसके समूल विनाश का संकल्प लेना चाहिए, ताकि आने वाली पीढ़ी को हम एक सुनहरा भविष्य प्रदान कर सकें।

आतंकवाद पर 10 लाइन 10 line on Terrorism in Hindi

  1. आतंकवाद एक ऐसी समस्या है जिसका भारत में जिसका भारत में हम गए दस्को से सामना कर रहे हैं।
  2. आतंकवाद एक हिंसक व्यवहार है जो सम्मान या उसके बड़े भाग में राजनीतिक उद्देश्य से पैदा करने के इरादे से किया जा रहा है।
  3. महा मानवता के सिद्धांत वाला हमारा देश भारत के पिछले अनेक वर्षों से संप्रदायिक हिंसा तथा आतंकवाद की विकराल समस्या बनी हुई है।
  4. आतंकवाद हि एक एसी समस्या है जो देश रूपी वटवृक्ष को दिमाग के समान चट- चट कर खोखला कर रही है। कुछ अलगाववादी शक्तियां तथा पथभ्रष्ट नवयुवक हिंसात्मक रूप से देश को विभिन्न क्षेत्रों में दंगा फसाद करवा कर अपने स्वार्थ सिद्धि में लगे हुए हैं।
  5. आतंकवाद का कोई नियम कानून नहीं होता वह केवल अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार के ऊपर दबाव बनाने के साथ ही आतंक को हर जगह फैलाने के लिए निर्दोष लोगों के समूह या समाज पर हमला करते हैं।
  6. यह सच है कि बेकारी तथा बेरोजगारी के कारण परेशान युवाओं को धन का लालच देकर तथा धर्म के नाम पर उकसाने तथा आतंकवाद बनाने का काम धार्मिक कट्टरपंथी संस्थाएं करती रहती है।
  7. आतंकवादियों द्वारा सीरियल ब्लास्ट कथा साइकल बम ब्लास्ट जैसी घटनाओं ने देश को झकझोर कर रख दिया है, इसीलिए आज आतंकवादियों के खिलाफ कठोरता से पेश आने की आवश्यकता है।
  8. 1947 में भारत के आजादी के बाद से ही, भारत को विभिन्न देशों में विद्रोह और आतंकवादी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
  9. कुछ अलगाववादी शक्तियां तथा पथभ्रष्ट नवयुवक हिंसात्मक रूप से देश को विभिन्न क्षेत्रों में दंगा फसाद करवा कर अपने स्वार्थ सिद्धि में लगे हुए हैं।
  10. विश्व के सभी राष्ट्रों को एक होकर इसके समूल विनाश का संकल्प लेना चाहिए, ताकि आने वाली पीढ़ी को हम एक सुनहरा भविष्य प्रदान कर सकें।

निष्कर्ष Conclusion

 आतंकवाद जैसी मानसिकता का समाधान खोजने के लिए सभी देशों को मिलकर काम करना होगा, और इसीलिए हर साल 21 मई को आतंकवादी विरोधी दिवस मनाया जाता है।

इस समस्या से लड़ने के लिए एक अकेला देश कुछ नहीं कर सकता, क्योंकि आतंकवाद विश्वव्यापी समस्या है जिसे जड़ से खत्म करना विश्व शांति के लिए आवश्यक है।

यदि आपको हमारा यह आतंकवाद पर निबंध अच्छा लगा हो तो हमारे साथ और भी इसी तरह की जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिए।

 धन्यवाद

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.