वृक्षारोपण पर निबंध Essay on Tree Plantation in Hindi

आज हमने वृक्षारोपण पर निबंध (Essay on Tree Plantation in Hindi) इस लेख में प्रकाशित किया है। यह स्कूल-कॉलेज के छात्रों के लिए एक लघु 600 शब्दों वाला निबंध है। विद्यार्थी परीक्षा और प्रतियोगिताओं के लिए इस निबंध से मदद ले सकते हैं।

प्रस्तावना Introduction

वन मानव जीवन के लिए बहुत ही उपयोगी है किंतु सामान्य व्यक्ति इसके महत्व को नहीं समझ रहा है जो व्यक्ति वनों में रहते हैं या जिनकी आजीविका वनों पर आश्रित है वही वनों के महत्व को समझते हैं।

वृक्षारोपण क्या है? What is Tree Plantation?

किसी भी पेड़ से रहित बंजर भूमि में पेड़ों को लगाने या बीज बोने की प्रक्रिया को वृक्षारोपण कहते हैं। यह विशेष रूप से देशों में विदेशी वृक्षों को लगाने की एक प्रक्रिया है।

आज के इस आधुनिक युग में पेड़ो की संख्या में बहुत कमी हो रही और मनुष्य जीवन के लिए बहुत ही उपयोगी है इसलिए वृक्षारोपण करना बहुत जरूरी है। आसान शब्दों में कहा जाये तो वृक्षारोपण नए वनों का निर्माण है।

पढ़ें: पर्यावरण प्रदुषण पर निबंध

वृक्षारोपण का महत्व Importance of Tree Plantation

मनुष्य के जीवन में वृक्षों का बहुत ही विशेष महत्व है। पेड़ धरती माता के बेटे हैं और हमारे मित्र भी। वृक्षों से हमें फल, सब्जियां, लकड़ियां, आदि प्राप्त होती हैं। लकड़ी से फर्नीचर, कागज़, गोंद, आदि वस्तुएँ तैयार की जाती हैं। इसके अलावा पेड़ों से बहुत सारी औषधियां तैयार की जाती है, जो हमारे शरीर से संबंधित कई प्रकार के रोगों का उपचार करने में हमारी मदद करती है।

पेड़ ना केवल हमें शुद्ध हवा प्रदान करते हैं बल्कि पर्यावरण को भी सुंदर बनाते हैं। पेड़ पर पक्षी अपना घोंसला बनाकर रहते हैं। तपती धूप में यह मनुष्य को छाया प्रदान कर उसे गर्मियों से बचाने में मदद करती हैं। पेड़ों के ना होने से मनुष्य का जीवन संकट में आ जाएगा। मनुष्य सुख सुविधाओं के लालच में आकर पेड़ों का शत्रु बन बैठा है।

वह निरंतर पेड़ों को काटते जा रहा है जिस कारण हमारे पर्यावरण में दुष्परिणाम पड़ रहे हैं और मनुष्य को कई प्रकार के प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा है। पृथ्वी का तापमान लगातार बढ़ रहा है, पहाड़ों का बर्फ लगातार पिघल रहा है, जिससे बाढ़ का खतरा बना रहता है। पेड़ पौधे प्रकृति की शान है इस कारण इंसान धरती पर बचे हैं।

यह कहना गलत नहीं होगा कि पेड़ हमारे मित्र हैं। पेड़ों की जड़ें मिट्टी को कसकर जकड़े रहती हैं। जड़ों के कारण उपजाऊ मिट्टी हवा मे उड़ने (मृदा अपरदन) से बची रहती है। पेड़ समय पर बारिश करने में हमारी मदद करते हैं। सचमुच पेड़ हमारे सच्चे दोस्त हैं। हमें उनकी रक्षा करनी होगी।

पेड़-पौधे खुद धूप और तूफान सहते हैं और हमें शीतल हवा और छाया प्रदान करते हैं ना कभी किसी से भेदभाव करते हैं और ना कभी किसी को अपना और पराया कहते हैं। हमें इनकी रक्षा करनी होगी और लोगों को पेड़ काटने से रोकना होगा, इनका हम पर बहुत उपकार है, यदि हमारे जीवन में हमें एक अच्छा जीवन चाहिए तो हमें अपने बच्चों की तरह इन पेड़-पौधों को पालना होगा। शुद्ध हवा और ऑक्सीजन के बिना मानव जीवन असंभव है।

कई प्रकार के प्राकृतिक आपदाओं और प्रदूषण से भुगतने के पश्चात अब लोगों को वृक्षारोपण का महत्व समझने आने लगा है। अब शहर से लेकर गाँव तक लोगों और सरकार ने मिलझूल कई कार्यक्रमों की शुरुवात की है जिससे की वृक्षारोपण को बढ़ावा मिले। स्कूल और कॉलेज में भी बच्चों और अध्यापकों द्वारा नियमित रूप से वृक्षारोपण के कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं।

निष्कर्ष Conclusion

वृक्षारोपण न केवल शासन का कर्तव्य है बल्कि हमारा भी कर्तव्य है। प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य है कि वृक्षों को ना काटे और काटने से भी रोके। अधिकाधिक वृक्षारोपण करें, ताकि वनों से हमें पर्यटन की सुविधा, पशु पक्षी का दर्शन, प्राकृतिक संतुलन, वनस्पति आदि का लाभ मिलते रहे। अगर वन संपदा नष्ट हो जाएंगी तो प्रकृति को कोप से बचाना बहुत ही मुश्किल होगा।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.